पृथ्वी दिवस: पोलिथिन से घुट रहा पृथ्वी का दम, हवा भी हो रही जहरीली,

पोलिथिन की थैलियों व प्लास्टिक कचरे के दिनोंदिन बढ़ते ढेर से पृथ्वी का दम घुटने लगा है। केवल पृथ्वी ही नहीं, अजर-अमर कहीं जाने वाली प्लास्टिक व पोलिथिन नदी-नालों को छोड़ समुद्र तक में ताडव मचा रही है। इसकी पहुंच किस हद तक है इसका अनुमान इसी से लगाया जा सकता है कि भूगर्भ जल से लेकर समुद्र जल से तैयार किए जाने वाले नमक तक में प्लास्टिक के कण पाए गए हैं। पर्यावरण को चौतरफा चुनौती दे रही पोलिथिन से खतरे को देखते हुए ही पृथ्वी दिवस (22 अप्रैल) का इस वर्ष का थीम ‘प्लास्टिक प्रदूषण को खत्म करो’ रखा गया है।

Published by Arpan Mishra

A banker, Travel lover and interested in the worlds spiritual connection and like its different faces also like listening music, reading biographies, startup from Varanasi, India

2 thoughts on “पृथ्वी दिवस: पोलिथिन से घुट रहा पृथ्वी का दम, हवा भी हो रही जहरीली,

  1. rightly said. And I have personally stopped using plastic made materials. I have been using environmental friendly stuff only. I really admire people who spread awareness about the environment related issues. And I was glad to find all ‘glass’ water bottles instead of plastic, In India. More surprised to see paper cups, glasses and straws (those made of cardboard or something, I don’t know what exactly it’s called ) in juice shops on the streets and small restaurants. That’s a small step for a big change. I have some hope now…

    Liked by 1 person

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: